Xiaomi is developing a new version of its MIUI software to adhere to the Indian ban on Chinese apps | शाओमी के फोन में प्री-लोडेड नहीं होंगे प्रतिबंधित चीनी ऐप, कंपनी ला रही ऑपरेटिंग सिस्टम MIUI का नया वर्जन

[ad_1]

  • Hindi News
  • Tech auto
  • Xiaomi Is Developing A New Version Of Its MIUI Software To Adhere To The Indian Ban On Chinese Apps

नई दिल्लीfour घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

शाओमी के इंडिया हेड मनु जैन ने ट्विटर पर बयान जारी कर नया वर्जन लाने की जानकारी दी है।

  • शाओमी के इंडिया हेड ने कहा- भारतीय प्रतिबंधों का पालन कर रही है कंपनी
  • कंपनी ने सरकार को सभी 77 सवालों के जवाब भेजे, सुनवाई का इंतजार

बिक्री के मामले में भारत की सबसे बड़ी चाइनीज स्मार्टफोन निर्माता कंपनी शाओमी अपने MIUI सॉफ्टवेयर का नया वर्जन डवलप कर रही है। चीनी ऐप पर भारतीय प्रतिबंधों का पालन करने के लिए शाओमी इस सॉफ्टवेयर को डवलप कर रही है। शाओमी के इंडिया हेड मनु जैन ने शुक्रवार को एक ट्विटर पोस्ट के जरिए बयान जारी कर यह जानकारी दी है। जैन ने कहा है कि कंपनी चीनी ऐप पर भारतीय प्रतिबंधों का अनुपालन कर रही है।

नए सॉफ्टवेयर में प्री-इंस्टॉल्ड नहीं होंगे प्रतिबंधित चीनी ऐप

मनु जैन ने कहा कि हम स्पष्ट करना चाहते हैं कि भारत सरकार की ओर से बैन किया गया कोई भी चीनी ऐप भारत में लॉन्च किए गए शाओमी फोन्स में अब एक्सेस नहीं हो रहा है। जैन ने कहा है कि हम ऐसा MIUI सॉफ्टवेयर डवलप कर रहे हैं जिसमें कोई भी प्रतिबंधित चीनी ऐप प्री-इंस्टॉल्ड नहीं होगा। MIUI एक ऑपरेटिंग सिस्टम है जिस पर शाओमी के सभी स्मार्टफोन रन करते हैं। यह कंपनी के कारोबारी मॉडल एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।

2018 से देश में स्टोर हो रहा है भारतीय यूजर्स का डाटा

मनु जैन ने कहा कि कंपनी 2018 से ही भारतीय यूजर्स का डाटा देश में ही स्टोर कर रही है और आगे भी यह जारी रहेगा। उन्होंने यह भी दावा किया कि कभी भी कोई भी डाटा देश से बाहर शेयर नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि जो लोग कंपनी के ऐप्स और बैन को लेकर गलत सूचना फैला रहे हैं, कंपनी को उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई का अधिकार है।

शाओमी के Mi ब्राउजर पर लग चुका है प्रतिबंध

लद्दाख की गलवान घाटी में सीमा विवाद के बाद भारत सरकार ने चीन की कंपनियों से जुड़े कुल 106 ऐप पर बैन लगा दिया है। इसमें शाओमी का Mi ब्राउजर और Mi कम्युनिटी जैसे ऐप भी शामिल हैं। Mi ब्राउजर पर यूजर्स की जानकारी एकत्र करने के आरोप में बैन लगाया गया है। हालांकि, कंपनी ने इन आरोपों से इनकार किया है। कंपनी भारत में बेचे जाने वाले फोन में प्री-लोडेड ऐप्स देती है। इनमें वीडियो, म्यूजिक प्लेबैक, सिक्योरिटी, वेब ब्राउजिंग और शाओमी के अपने ई-कॉमर्स स्टोर Mi स्टोर का ऐप भी शामिल है।

शाओमी ने सरकार को भेजा जवाब

अन्य प्रतिबंधित ऐप्स की तरह शाओमी ने भी सरकार की ओर से भेजे गए 77 सवालों के जवाब दे दिए हैं। अब कंपनी को सरकार की तरफ से व्यक्तिगत सुनवाई का इंतजार है। भारत सरकार की ओर से जो चीनी ऐप बैन किए गए हैं उनमें बाइटडांस के स्वामित्व वाला टिकटॉक, टैंसेंट का वीचैट, अलीबाबा ग्रुप के यूसी ब्राउजर और यूसी न्यूज प्रमुख हैं।

0



[ad_2]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *