Apple delays debut of anti-tracking tool in iPhone software | एपल ने अपने लेटेस्ट iOS से एंटी-ट्रेकिंग टूल को टाला, पहले नेक्स्ट जनरेशन आईफोन में देने का था प्लान

[ad_1]

नई दिल्ली17 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

एपल ने कहा कि इसका मतलब यह नहीं है कि वह ग्राहकों की प्राइवेसी के मौलिक अधिकार को सेफ्टी देने से पीछे हट रही है

  • इस फीचर से ऐप डेवलपर के लिए डिजिटल एड बेचने की मॉनिटरिंग करने में मुश्किल होगी
  • एपल का इरादा था कि आईओएस 14 अपने आप निगरानी को बंद कर देगा

एपल ने अपने नेक्स्ट जनरेशन आईफोन में दिए जाने वाले एंटी-ट्रेकिंग टूल को फिलहाल टाल दिया है। कंपनी ये टूल ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ देने वाली थी। कंपनी का कहना है कि इस फीचर की वजह से ऐप बनाने वालों के लिए डिजिटल एड बेचने के इरादे से लोगों की ऑनलाइन मॉनिटरिंग करने में मुश्किल होगी।

कंपनी ने ये फैसला गुरुवार, three सितंबर को लिया। इस फैसले से कंपनी के लेटेस्ट आईओएस 14 पर भी असर होगा। ऐसा माना जा रहा है कि इस महीने के अंत तक एक अरब आईफोन यूजर्स के लिए यह ऑपरेटिंग सिस्टम फ्री सॉफ्टवेयर अपग्रेड के तौर पर में उपलब्ध होगा।

आईपैड और एपल टीवी में भी होने थे बदलाव
एपल का इरादा था कि आईओएस 14 अपने आप निगरानी को बंद कर देगा, लेकिन कंपनी ने अब कहा है कि इस टूल को अगले साल की शुरुआत तक रोककर रखा जाएगा। ये सुरक्षा उपाए आईपैड और एपल टीवी के अगले ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए भी किए जाने थे। इस फीचर का इस्तेमाल करने पर ऐप को यूजर्स के आंकड़ों को कलेक्ट और शेयर करने से पहले उसकी परमिशन लेनी जरूरी होगी।

फेसबुक ने भी दी थी चेतावनी
ऐसी आशंका जताई गई थी कि ज्यादातर लोग मॉनिटरिंग को बंद कर देंगे, जिससे फ्री ऐप्स के लिए अपने विज्ञापनों को बेचना मुश्किल हो जाएगा, जिनसे उनकी कमाई का बड़ा हिस्सा आता है। गूगल के बाद डिजिटल विज्ञापन का सबसे बड़ा नेटवर्क चलाने वाले फेसबुक ने पिछले हफ्ते चेतावनी दी थी कि आईओएस 14 में नई गोपनीयता सुविधा के चलते कई ऐप को बड़ा झटका लग सकता है, जो पहले ही कोरोना वायरस के कारण मंदी का सामना कर रहे हैं।

एपल ने कहा अभी के लिए टूल का टाला
एपल ने कहा है कि वह अपने एंटी ट्रेकिंग टूल को फिलहाल टाल कर रहा है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह ग्राहकों की प्राइवेसी के मौलिक अधिकार को सेफ्टी देने से पीछे हट रही है। कंपनी ने कहा कि वह अपने डेवलपर्स को इसके लिए समय देना चाहती है, ताकि वे जरूरी बदलाव को ठीक तरह से कर सकें।

0

[ad_2]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *