एपल गे सर्विस के लिए ‘एपल वन’ सब्सक्रिप्शन की * कर सकता है घोषणा; इसमें म्यूजिक, आर्केड और टीवी प्लस सब मिलेगा

[ad_1]

नई दिल्ली34 मिनट पहले

  • कॉपी लिस्ट

यदि कोई उपयोगकर्ता एपल वन का सब्सक्रिप्शन लेता है, तो एपल म्यूजिक के साथ उसकी सब्सक्रिप्शन ओवरलैप नहीं होगी

  • इन सेवा से कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2019 में 46.Three बिलियन डॉलर का रेवेन्यू जनेरट किया था
  • उपयोगकर्ता को बार-बार किसी सेवा का सदस्य बनने की जरूरत नहीं होगी

एपल के 15 सितंबर को होने वाले इवेंट को लेकर अब खबरें आना शुरू हो गई हैं। ऐसा माना जा रहा है कि कंपनी अपनी क्वाड बेस्ड सर्विस जैसे म्यूजिक, आर्केड, न्यूज प्लस और एपल टीवी प्लस सर्विस के लिए एक बिंदी सब्सक्रिप्शन की घोषणा कर सकती है। इन सभी सेवा से कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2019 में 46.Three बिलियन डॉलर (3.40 लाख करोड़ रुपए) का रेवेन्यू जनेरट किया।

ऐसा माना जा रहा है कि एपल की इस बिड सर्विस का नाम एपल वन हो सकता है। यह एक सेवा में कंपनी तमाम तरह की दिशाएं करेगी। यानी उपयोगकर्ता को बार-बार किसी सेवा का सदस्य बनने की जरूरत नहीं होगी।

सिंघल रिचार्ज पर मिलेंगे बेनिफिट
यदि कोई उपयोगकर्ता एपल वन का सब्सक्रिप्शन लेता है, तो एपल म्यूजिक के साथ उसकी सदस्यता ओवरलैप नहीं होगी। यानी उपयोगकर्ता को एपल म्यूजिक के लिए अलग से पेमेंट नहीं करना होगा। हालांकि, ऐसा माना जा रहा है कि एपल वन का सब्सक्रिप्शन केवल आईओ डिवाइसेज पर ही मिलेगा। यानींडा यूजर्स इस सिंघल सेवा का फायदा नहीं ले पाएंगे। अभी एपल म्यूजिक एक मात्र पांडा पर चलने वाली सेवा है।

एपल का सबसे सस्ता बैग 49 रुपए में
एपल की सेवा के सबसे सस्ते सब्सक्रिप्शन शेयर एपल म्यूजिक और एपल टीवी के लिए five डॉलर (लगभग 370 रुपए) और nine डॉलर (करीब 660 रुपए) के होंगे। ऐसा नहीं है कि बिड पहले से उपलब्ध नहीं है। टीवी और म्यूजिक प्लस के लिए एपल बिड की यूएस में कीमत five डॉलर और भारत में 49 रुपए है। हालाँकि, ये विनियमित सदस्यता अभी तक स्टूडेंट्स के लिए है।

एपल ने बदली स्टोर की रणनीति
एपल अपने ऐप स्टोर के माध्यम से रूट किए जाने वाले सभी खरीदे गए ऐप्स पर 30 प्रतिशत की कटौती कर रहा है। कंपनी ने अपनी इस रणनीति में बदलाव फाइट के साथ हुए विवाद के बाद किया। दरअसल, एपल अपने ऐप स्टोर से इस गेम की खरीदारी पर 30 फीसदी रेवेन्यू कमाती है। जब गेम के डेवलपर्स ने फाइट के के स्वतंत्र और पेड दोनों वर्जन को अपडेट किया था, जिसके बाद इसमें यूजर्स को डायरेक्ट पेमेंट का ऑप्शन मिलने लगा था।

0



[ad_2]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *