अगले सप्ताह से TV खरीदना पड़ेगा महंगा, बढ़ सकते हैं दाम; 1 अक्टूबर से सरकार लागू करने जा रही है नया नियम, जानिए किस साइज की टीवी कितनी महंगी होगी?

[ad_1]

  • Hindi News
  • Business
  • Govt To Impose 5% Customs Duty On Import Of Open Cell For Televisions From Oct 1, 2020

नई दिल्ली13 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

सरकार एक अक्टूबर से टीवी के ओपन सेल के आयात पर Five फीसदी कस्टम ड्यूटी लगाएगी।

  • ओपन सेल पर फिर लगेगी 5% इंपोर्ट ड्यूटी
  • एक साल की छूट अवधि समाप्त हो रही है

अगर आप इस फेस्टिवल सीजन में टेलीविजन खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो आपको यह महंगा पड सकता है। टीवी के दामों में अगले सप्ताह से इजाफा हो सकता है। सरकार एक अक्‍टूबर से टीवी के ओपन सेल के आयात पर Five फीसदी कस्‍टम ड्यूटी लगाएगी। इससे टीवी की कीमत में वृद्धि होने की पूरी संभावना है। वैल्‍यू एडिशन संग लोकल मैन्‍यूफैक्‍चरिंग को बढ़ावा देने हेतु सरकार ने यह कदम उठाने का फैसला किया है।

जानिए कितने रुपए बढ़ सकती हैं कीमतें ?

खबर है कि 32 इंच के टेलीविजन का दाम 600 रुपए और 42 इंच का दाम 1,200 से 1,500 रुपए बढ़ेगा। बड़े आकार के टेलीविजन के दाम में अधिक वृद्धि होगी। वित्त मंत्रालय के सूत्र के मुताबिक कहा गया है कि मशहूर ब्रांड 32 इंच टीवी के लिए 2,700 रुपए और 42 इंच के लिए 4,000 से 4,500 रुपए की मूल कीमत पर ओपन सेल आयात कर रहे हैं। ऐसे में अगर ओपन सेल पर Five फीसदी शुल्क लगाया जाता है, यह 150 से 250 रुपए प्रति टेलीविजन से अधिक नहीं होगा।

पहले से ही है दबाव में टीवी इंडस्ट्री

टेलीविजन इंडस्ट्री पहले से ही दबाव में है क्योंकि पूरी तरह से निर्मित पैनलों का दाम 50% से ज्यादा बढ़ गया हैं। सरकार ने ओपन सेल पर एक वर्ष हेतु कस्टम ड्यूटी से छूट दी थी। 30 सितंबर को यह समाप्त हो जाएगी। ऐसे में इंडस्ट्री का मानना है कि ओपन सेल पर Five फीसदी सीमा शुल्क से टेलीविजन की कीमत करीब Four फीसदी बढ़ेगी।

सैमसंग भारत में शुरू करेगी कारोबार

खबर यह है कि इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय इम्पोर्ट ड्यूटी रियायत को बढ़ाने के पक्ष में है। इम्पोर्ट ड्यूटी रियायत दिए जाने की वजह से टीवी मैन्युफैक्चरिंग में निवेश बढ़ाने में मदद मिली है और इसी का परिणाम है कि दक्षिण कोरियाई कंपनी सैमसंग वियतनाम से अपना उत्पादन कारोबार समेट कर अब भारत में उत्पादन शुरू करेगी।

0

.

[ad_2]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *